साधारण सभा की बैठक में छाया रहा विद्युत व टोल फ्री किए जाने का मुद्दा

0
67
पंचायत समिति प्रधान सकराम चौपडा की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में जनप्रतिनिधियों ने अधिकारियों की लगाई क्लास
पंचायत समिति प्रधान सकराम चौपडा की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में जनप्रतिनिधियों ने अधिकारियों की लगाई क्लास

पंचायत समिति प्रधान सकराम चौपडा की अध्यक्षता में सोमवार को पंचायत समिति के राजीव गांधी भारत निर्माण सेवा केन्द्र सभागार में साधारण सभा की बैठक आयोजित की गई।

बैठक में बिजली, पानी, चिकित्सा, सडकों सहित अन्य मुद्दों पर सभी जनप्रतिनिधियों ने विभागीय अधिकारियों की जमकर क्लास लगाई। बैठक में जिला प्रमुख सरोज नरेश बंसल, मालपुरा-टोडारायसिंह विधायक कन्हैया लाल चौधरी, उपप्रधान मूलशंकर शर्मा भी मौजूद रहे।

 बैठक में पंचायत समिति प्रशासन की ओर से नवनिर्वाचित होकर आए सभी जनप्रतिनिधियों का माला एवं साफा बंधवाकर स्वागत, अभिनन्दन किया गया।  बैठक की शुरूआत के साथ ही क्षेत्र में अघोषित बिजली कटौती के मुद्दे पर जमकर हंगामा हुआ तथा जनप्रतिनिधियों ने ग्रामीण क्षेत्रों में पिछले दिनों से लगातार चल रही अघोषित कटौती के मामले में विद्युत निगम अधिकारियों को आडे हाथों लिया।

जनप्रतिनिधियों ने निगम के अधिकारियों को जमकर कोसा तथा लम्बे समय से पदों पर जमे अधिकारियों की मनमानी व तानाशाहपूर्ण रवैए पर जमकर आक्रोश जताया। जनप्रतिनिधियों ने कहा कि पंखे, कूलर, एसी कमरों में बैठे अधिकारियों को भीषण गर्मी एवं उमस से आमजन की परेशानियों का अंदाजा नहीं है। कई गांवो में तो एक सप्ताह से बिजली गुल है, ऐसे में आटा पिसाना, मोबाईल को चार्ज करना तक दूभर हो गया है।

यह भी देखे :- छत्रेश्वर महादेव मंदिर परिसर में जलमंदिर व चुग्गाघर का हुआ शुभारंभ

बिजली कटौती से आमजन का हाल-बेहाल है। ऐसे में अघोषित विद्युत कटौती ने आमजन का जीना मुश्किल कर दिया है। जनप्रतिनिधियों ने इस बात पर भी गहरा आक्रोश जताया कि बिजली के बारे में शिकायत करने अथवा कटौती के बारे में जानकारी किए जाने के लिए फोन करने पर अधिकारी फोन तक नहीं उठाते है, ऐसे में ग्रामीणों को बिजली कटौती के बारे में कुछ भी पता नहीं चलता है।

 जनप्रतिनिधियों के आक्रोश व सवालों की लगातार बौछार किए जाने से निगम के अधिकारी सकते में आ गए तथा उनसे जवाब देते नहीं बना। बैठक में जलदाय विभाग पर चर्चा के दौरान अधिकारियों से क्षेत्र में पेयजल समस्या को ध्यान में रखते हुए कार्य कर समस्या समाधान किए जाने पर जोर दिया। बैठक में सडकों की दुर्दशा पर जनप्रतिनिधियों ने गहरी चिंता जताई तथा सडकों की मरम्मत करवाने सहित लिंक रोड के लिए अतिरिक्त बजट की मांग के लिए राज्य सरकार व विभाग को पत्राचार किए जाने पर सहमति जताई गई। 

बैठक में हाल ही में टोल बूथों का जिम्मा आरएसआरडीसी के हाथों में सौंपे जाने के बाद एक बार फिर से क्षेत्रवासियों को टोल वसूली से राहत प्रदान किए जाने की मांग की गई। जनप्रतिनिधियों ने मांग उठाई कि न्यूनतम दूरी के निवासियों को सभी जगह टोल से राहत प्रदान की गई है लेकिन मालपुरा में ऐसा नहीं है। अविकानगर में पढने जाने वाले विद्यार्थी को अभिभावक टिफिन देने भी जाए तो उसे टोल चुकाना पडता है जो कतई न्यायसंगत नहीं है। सभी जनप्रतिनिधियों ने एकस्वर में दस किमी की परिधि में आने वाले लोगों को टोल से राहत प्रदान किए जाने की व्यवस्था किए जाने पर सहमति जताते हुए प्रस्ताव भिजवाने की मांग की।

यह भी देखे :- शहर में शांति व कानून व्यवस्था कायम रखना पहली प्राथमिकता:थानाधिकारी विश्रोई

जिला प्रमुख सरोज नरेश बंसल ने कहा कि जिस प्रकार से जनप्रतिनिधि क्षेत्र में जागरूकता के साथ खडे हुए है उसी तरह सभी अधिकारी भी उपखंड क्षेत्र में जागरूक रहकर कार्य करे। क्षेत्र में सबसे बडी समस्या बिजली व पानी की आ रही है उसका अतिशीघ्र निदान कर आमजन को राहत पहुंचाए।

जिलाप्रमुख बंसल ने कहा कि बिजली, पानी की समस्याओं में ही घिरे रहने से कार्य नहीं होगा बल्कि केन्द्र सरकार की कल्याणकारी योजनाओं से आमजन को लाभान्वित करने की जरूरत है। उन्होंने सभी अधिकारियों से योजनाओं की समयबद्ध तरीके से समीक्षा किए जाने तथा निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त करे।

यह भी देखे :- विधायक चौधरी ने क्षेत्र को गौरान्वित करने वाले आरएएस शर्मा को गले लगाकर दी बधाई

विधायक कन्हैया लाल चौधरी ने भी सभी जनप्रतिनिधियों का स्वागत करते हुए क्षेत्र के चहुंमुखी विकास के लिए एकजुट होकर समस्याओं के समाधान के लिए प्रयासरत रहने का आह्वान किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here